वेब शुगर मिल के मालिक,निदेशकए और महाप्रबंधक के खिलाफ मुकदमा दर्ज

वेब शुगर मिल के मालिक,निदेशकए और महाप्रबंधक के खिलाफ मुकदमा दर्ज 

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सत्ता सँभालते ही मायावती शासनकाल में बेची गई 21 चीनी मिलों के जांच के आदेश दिए थे। मायावती के शासन काल में बेची गई शुगर मिलों में बुलंदशहर की वेव शुगर मिल भी शामिल है। जिस किसानो का गन्ने का करोडो रूपया बकाया चल रहा है।मिल की जांच के आदेश के बाद किसानों ने भी वेव शुगर मिल को फिर से चालू करने के लिए आज हूंकार भरी है। किसान नेताओं का कहना है कि वेव मिल को चालू किया जायेए वर्ना वह अनिश्चितकाल हड़ताल पर चले जाएंगे।

बुलंदशहर नगर स्थित वेब ग्रुप की वेब शुगर मिल  में 22 जनवरी 2018 को प्रदेश के गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने पेराई सत्र का शुभारंभ किया था। गन्ना विभाग ने चीनी मिल से उस दौरान 8ए138 किसानों को जोड़ा गया था। लेकिन चीनी मिल चलने के बाद भी कई बार बीच.बीच में बंद हुई और पिछले पेराई सत्र वर्ष 2017.18 का मिल ने किसानों का गन्ना भुगतान रोक लिया गया। गन्ना विभाग के अनुसार वेव शुगर मिल पर  20 करोड़ 8 लाख 18 हज़ार गन्ना किसानों मूल बकाया है ।

साथ ही इसमें 294ण्12 लाख ब्याज की राशि है जबकि मिल पर 87ण्48 लाख गन्ना समिति का कमीशन भी बकाया है। इसके अलावा 14ण्22 लाख कमीशन का ब्याज भी बकाया है। कुल मिलाकर चीनी मिल अब 24ण्4 करोड़ रुपया बकाया चल रहा है। जिसके चलते मिल अफसरों द्वारा भुगतान न किए जाने पर प्रदेश के गन्ना आयुक्त आर भूषरेड्डी ने पिछले सप्ताह मिल से बकाया भुगतान रिकवरी के आदेश जारी कर दिए थे। आदेश पर कार्रवाई करते हुए बुलंदशहर डीसीओ डीके सैनी ने बुलंदशहर डीएम के पास फाइल भेज दी थी।

जिसके बाद मिल अफसरों को भुगतान के लिए नोटिस जारी किया गया था। लेकिन इसके बाद भी मिल द्वारा किसी तरह का कोई भुगतान नहीं किया गया। नोटिस का समय पूरा होने के बाद   ज्वाइंट मजिस्ट्रेटए तहसीलदारए डीसीओए नायब तहसीलदार मय फोर्स के साथ वेव शुगर मिल में पहुंचे और बैंक के तीन अकांउटों का रिकार्ड व भुगतान संबंधित दस्तावेजों को अपने कब्जे में ले लिया। और फिर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के आदेश पर मिल के सीजीएम दफ्तर व एचआर कार्यालय को सील कर दिया।

मिल की तरफ से कोई भुगतान ना किये जाने पर मिल के मालिक मोंटी चड्डाए मिल निदेशक डी०एस विन्द्राए और मिल महाप्रबंधक बी०एस चौहान के ख़िलाफ़ बुलंदशहर नगर कोतवाली में धारा 420 और 120 ;बी में एफआईआर दर्ज हुई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *