साध्वी के परिवार बालो को दबंगो ने पत्र भेजकर समझौता न करने पर जान से मारने की धमकी।

शाहजहांपुर तिलहर थाना क्षेत्र में रहने वाली जूना अखाड़ा की साध्वी कोयल गिरी की बरेली में इलाज के दौरान मौत हो गई  थी। साध्वी कोयल गिरी ने 5 लोगों के खिलाफ उसे जलाने का गंभीर आरोप लगाया था ।

साध्वी के परिवार बालो को दबंगो ने पत्र भेजकर समझौता न करने पर जान से मारने की धमकी।
जिसमें सभी आरोपी अभी तक फरार चल रहे है आज साध्वी के परिवार वालों को दबंगों की तरफ से एक धमकी भरा खत भेजा गया है । जिसमें लिखा है कि तुम लोग मुकदमे में ज्यादा पैरवी कर रहे हो समझौता ले लो नहीं तो अंजाम अच्छा नहीं होगा जान से हाथ धो बैठोगे पूरा परिवार। अमित तुम्हें और तुम्हारे साथ वकील को और जो भी पैरवी करेगा उसे भी जान से हाथ धोना पड़ेगा। अभी समय है समझौता कर लो। यह बात किसी को नहीं बताना नहीं तो अंजाम अच्छा नहीं होगा। धमकी भरे खत को मिलने पर परिवार में दहशत का माहौल है।
साध्वी कोयल गिरि की इलाज के दौरान मौत, पांच लोगों पर जलने का आरोप

 साध्वी कोयल गिरी जूना अखाड़ा से जुडी थी । आरोप है कि 23 नवंबर 2018 को जब वह लखनऊ से अपने घर आई थी तब रास्ते में जमीनी विवाद के चलते सुशील बाबू गुप्ता पंकज गुप्ता और अनुराग गुप्ता सहित पांच लोगों ने साध्वी को पकड़ कर उसे आग के हवाले कर दिया। गंभीर रूप से झुलसी साध्वी को  बरेली के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां पिछले 11 दिनों से साध्वी का इलाज चल रहा था 80% से ज्यादा जल चुकी साध्वी ने 4 दिसंबर म तोड़ दिया । साध्वी कोयल गिरी की मौत के बाद उनके परिजनों ने साध्वी का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया है । साध्वी कोयल गिरी के परिजनों की मांग है कि जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती तब तक अंतिम संस्जर नहीं करेगे।उस समय पुलिस ने परिवार बालो को आरोपियो की जल्द गिरफ़्तारी का आश्वासन दे कर साध्वी का अंतिम संस्कार करबा दिया था।सबसे खास बात यह है कि पांचों आरोपियों के खिलाफ थाने में गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज होने के बाद भी अभी तक पुलिस किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।ऐशे में सबाल उठता है कि दबंगो द्वारा परिवार को दी धमकी से अगर परिवार पर हमला होता है तो उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *