स्याना हिंसा में मरे गये इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की सम्प्पत्ति की साध्वी महंत यतिनानंद ने जांच की मांग।

बुलंदशहर के स्याना हिंसा में मारे गए छात्र सुमित के परिजनों को न्याय के लिए 16 दिसंबर से बुलंदशहर के कालाआम चौराहे पर आमरण अनशन पर बैठेंगे बाबा नरसिंहानंद सरस्वती, पुलिस पर आरोप लगाते हुए ग़ाज़ियाबाद के डासना देवी मंदिर की महंत यतिनानंद ने  कहा कि चिंगरावटी, और महाव में महिलाओं के साथ  ज्यादतियां हुई हैं ,उनका वे  विरोध करेंगे  । साध्वी ने यहीं नही रुकीं उन्होंने कहा कि अगर ये  दमनचक्र  जल्द नहीं रोका गया तो.महंत आमरण अनशन करके अपना करेंगे प्राणदान।

स्याना हिंसा में मरे गये इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की सम्प्पत्ति की साध्वी महंत यतिनानंद ने जांच की मांग।
आज एक बार फिर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार  के नाम कि जिले में चर्चा हुई। गाजियाबाद के डासना देवी शक्ति पीठ की साध्वी महंत यतिनानंद सरस्वती ने हिंदूवादी संगठनों से जुड़े  लोगों के प्रतिनिधियों के साथ आज 3 दिसंबर को स्याना कोतवाली के  चिंगरावटी गांव मे हुई हिंसा में मारे गए  सुमित की मौत का दुख  जताते हुए सुमित के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मीडिया के सामने  स्याना कोतवाली  के प्रभारी रहे इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की आलोचना करते हुए कहा कि 16 दिसंबर से अखिल भारतीय संत परिषद के संयोजक स्वामी नृसिंगानन्द सरस्वती अनशन करने वाले हैं यह जानकारी गाजियाबाद से आई महंत यतिनानंद  सरस्वती ने दी यतिनानंद सरस्वती आज 3 दिसंबर में हुई हिंसा के दौरान मारे गए नवयुवक सुमित के परिजनों से मिलने स्याना कोतवाली क्षेत्र के गांव चिंगरावटी पहुंचीं,इस दौरान उन्होंने कहा कि सुमित की हत्या हुई है और उस पर एफआईआर लिखी गयी है, उन्होंने पुलिस की कार्यशेली पर सबालिया निशान लगाते हुए कहा कि,उनकी मांग है कि फिलहाल उस केस को खत्म किया जाए ,उन्होंने कहा कि गांव में महिलाओं के साथ पुलिस द्वारा बदतमीजी बदसलूकी की घटनाएं हो रही हैं।महिला महंत ने मृतक स्याना कोतवाली के  इंस्पेक्टर सुबोध पर भी गम्भीर आरोप लगाए ,उन्होंने बताया कि फिलहाल गांव के लोगों में दहशत बनी हुई है ,कोई भी आम किसान  का काम  नहीं हो पा रहा है ।लोगों में भय का माहौल है ,कोई भी प्रशासन के डर से घरों में नहीं रह रहा,तो वहीं उन्होंने मीडिया के जरिये 3 तारीख को मारे गए स्याना इंस्पेक्टर पर भी कई गम्भीर आरोप लगाए।मीडिया से मुखतिब होते हुए महिला महंत यतिनानंद सरस्वती ने कहा कि स्याना के पूर्व में रहे इंस्पेक्टर की संपत्ति की जांच की जानी चाहिए।उन्होंने 3 तारीख को हुए बबाल में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार पर भी गम्भीर आरोप लगाए ।महिला महंत ने कहा कि इंस्पेक्टर सुबोध की जहां जहां भी तेनाती रही वहीं गौकशी की घटनाएं लगातार बढ़नी शुरू हो जाती थीं। इस दौरान उनके साथ और भी कई हिंदूवादी संगठनों के लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *