नोएडा के मेट्रो अस्पताल में लगी आग, मरीजों को निकाला

Fire at Metro Hospital Noida  उत्तर प्रदेश के नोएडा के मेट्रो अस्पताल में गुरुवार दोपहर आग लग गई. मेट्रो अस्पताल नोएडा के सेक्टर 12 में स्थित है. आग लगने की घटना के बाद तुरंत फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने मौके पर पहुंच इस पर काबू पाया.

नोएडा के मेट्रो अस्पताल में लगी आग, मरीजों को निकाला

नोएडा के मेट्रो अस्पताल में गुरुवार दोपहर भीषण आग लग गई। यह अस्पताल नोएडा के सेक्टर 12 में स्थित है। आग लगने और आग बुझाने के काम के बाद दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंच गई हैं। आग लगने के बाद आननफानन में अस्पताल के कांच तोड़कर लोगों को बाहर निकाला गया। आग लगने के दौरान अस्पताल में दो दर्जन से अधिक मरीज फंसे हुए थे। हालांकि, बाद में उन्हें निकाल लिया गया था। आग लगने का कारण यह है कि अभी तक इसका पता नहीं चला है। आग सबसे पहले आईसीयू में लगी थी।

अस्पताल में आग इतनी भीषण थी कि लोगों को खिड़कियों से कांच तोड़कर रस्सी बांधकर बाहर निकाला गया। अस्पताल में 20 से ज्यादा लोग फंसे हुए थे, जिनमें इमरजेंसी और आईसीयू में भर्ती मरीज भी शामिल थे। घटना के दौरान अस्पताल में मौजूद मरीजों को सेक्टर 11 में शिफ्ट कर दिया गया है। सेक्टर 11 में मेट्रो अस्पताल की शिफ्ट भी है।

अस्पताल में मौजूद आग बुझाने के उपकरण वहां मौजूद यंत्र काम नहीं कर रहे थे। ऐसे में अस्पताल प्रशासन पर एक बार फिर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं। अस्पताल में इतना धुआं है कि मरीजों को सांस लेना भी मुश्किल हो रहा था।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना  से एसडीएम ने अपनी पत्नी का सरकारी अस्पताल कराया प्रसव।

नोएडा के फायर ऑफिसर अरुणवीर सिंह का कहना है कि आग को काबू पा लिया गया है, सभी फंसे हुए लोगों को निकाल लिया गया है। उन्होंने कहा कि अब केवल अस्पताल में धुआं भर गया है। उनका दावा है कि लगभग 3 दर्जन लोगों को निकाला गया है, हालांकि अभी भी सर्च ऑपरेशन जारी है. घटना के दौरान कोई भी मरीज घायल नहीं हुआ है. घटना के दौरान कोई मरीज घायल नहीं हुआ है।

 

आपको बता दें कि मेट्रो अस्पताल शहर के सबसे बड़े अस्पतालों में से एक है। नोएडा मेट्रो अस्पताल में 317 बेड हैं और इसकी दो इकाइयाँ हैं। 110 बेड हार्ट इंस्टीट्यूट में मेट्रो मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल के 207 बेड हैं। इसकी शुरुआत 1997 में हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *