नेशनल मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक संघ मंत्री सुरेश कुमार खन्ना को बेतन न मिलने दिया ज्ञापन

नेशनल मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक संघ मंत्री सुरेश कुमार खन्ना को बेतन न मिलने दिया ज्ञापन
मदरसा आधुनिकीकरण के जिला महासचिव आरिफ़ उस्मानी ने बताया है कि उ०प्र० में लगभग 9000 मदरसे आच्छादित हैं। जिनमें लगभग 25000 आधुनिकीकरण शिक्षक लाखों गरीब बच्चों को आधुनिक विषय हिंदी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान आदि की शिक्षा लगभग 23 वर्षों से प्रदान कर रहे हैं।उक्त सभी आधुनिकीकरण शिक्षकों को केंद्रीय भारत सरकार का मानव संसाधन विकास मंत्रालय स्नातक को ₹6000 प्रतिमाह और परास्नातक को 12000 रु० प्रतिमाह केद्रांश देने का प्रावधान है।किन्तु उक्त आधुनिकीकरण शिक्षकों का केंद्रांश आज तक प्रतिमाह नहीं मिल सका है। जो घोर अन्याय है जिसके चलते उक्त आधुनिकीकरण शिक्षकों की पारिवारिक हालत बद से बदतर हो गई है। ऐसी दशा में न तो उक्त शिक्षक अपने परिवार का जीवन यापन कराने में सक्षम है और न ही गुणवत्ता परक शिक्षा देने में समर्थ हैं।
ज्ञापन में निम्न बिंदु रखे गए
 मदरसा आधुनिकीकरण योजना में कार्यरत सभी आधुनिकीकरण शिक्षकों का 32 माह का केंद्राश भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय से यथाशीघ्र भुगतान कराया जाए साथ ही पिछला राज्यांश भी उत्तर प्रदेश सरकार से यथाशीघ्र भुगतान कराया जाए।
 मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों की सामाजिक सुरक्षा हेतु सेवा नियमावली यथाशीघ्र कैबिनेट में पास कराकर उत्तर प्रदेश में लागू की जाए। ताकि इस 25000 शिक्षकों को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की योजनाओं को धरातल पर क्रियान्वयन करने में किया जाए।
मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों को केंद्रांश व राज्यांश का भुगतान सरकार अपने पास से प्रतिमाह करे जिससे उक्त आधुनिकीकरण शिक्षको को भी अपने परिवार का पालन पोषण कर मुख्य धारा में शामिल हो सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *