मेरठ हथियार तस्कर कलीम पुलिस मुठभेड़ में घायल

मेरठ: बदमाशों का गढ़ कहे जाने वाला पश्चिमी उत्तर प्रदेश अब  बदमाशों के लिए काल प्रदेश बनता दिखाई दे रहा है।उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद बदमाशों का राज खत्म होने लगा है।

मेरठ हथियार तस्कर कलीम पुलिस मुठभेड़ में घायल 
क्योंकि योगी ने सत्ता संभालते ही बदमाशों को प्रदेश छोड़ने या फिर दुनिया छोड़ने की बात कही थी और पुलिस को भी सख्त निर्देश दिए थे कि अपराध रोकने के लिए पुलिस जो चाहे वो करे लेकिन अपराध पर लगाम लगाए। जिसके बाद लगातार यूपी पुलिस एनकाउंटर मूड में नजरआनेलगी । ऑपरेशन क्लीन चिट के तहत अब तक सबसे ज्यादा एनकाउंटर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हुए।
घटना थाना मेडिकल इलाके के रिंग रोड पर चेकिंग करते समय पुलिस ने स्कूटी सवार दो लोगों को रुकने का इशारा किया तो स्कूटी सवारों ने स्कूटी दौड़ा ली और पुलिस पार्टी पर फायर झोंक दिया । फिर क्या था पुलिस ने भी बदमाशों का पीछा किया और जवाबी फायरिंग शुरू की जिसमें एक बदमाश को गोली लग गई। जिससे वह स्कूटी सहित जमीन पर गिर पड़ा । वहीं बदमाश का दूसरा साथी अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। घायल बदमाश की शिनाख्त मेरठ के इस्लामाबाद निवासी कलीम के रूप में हुई है। कलीम शातिर किस्म का हथियार तस्कर है और कलीम पर लगभग आधा दर्जन मुकदमे दर्ज है। कलीम इतना शातिर किस्म का बदमाश है कि कलीम अलग अलग शहरों में अपने अलग अलग नाम बदलकर छिपा हुआ था। और बड़ी आसानी से हथियार तस्करी कर रहा था।
फिलहाल पुलिस ने घायल कलीम को हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया है जहां उसका उपचार चल रहा है।एसपी सिटी रणविजय सिंह ने बताया कि कलीम से पूछताछ कर इसके गिरोह तक पहुंचने की कोशिश करेंगे और इस गिरोह का भंडाफोड़ करेंगे। इसके अलावा दिल्ली और एनसीआर के अन्य शहरों में भी कलीम का रिकॉर्ड खंगाला जाएगा कि कहीं और थाने में कलीम में पर कोई मुकदमा तो नहीं है।
गैंगरेप की शिकार युवती को दरोगा ने बनाया अपनी दरिंदगी का शिकार ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *