लखनऊ पहुँचते ही मायावती ने बुलाई बैठक ,सपा बसपा गठबंधन पर होगी चर्चा

बसपा सुप्रीमो मायावती  अपने जन्म दिन से पाँच दिन पहले लखनऊ पहुंच गई। 15 जनवरी को अपने जन्मदिन पर वह सपा.बसपा गठबंधन का एलान कर सकती है। उन्होंने 20 जनवरी को बसपा के पदाधिकारियों की बैठक बुलाई है। इसमें वह चुनावी रणनीति का खुलासा करेंगी। 22 जनवरी को मायाबती भाईचारा कमेटी की बैठक में लोकसभा चुनाव को लेकर दिशा.निर्देश देंगी।

लखनऊ पहुँचते ही मायावती ने बुलाई बैठक ,सपा बसपा गठबंधन पर होगी चर्चा

लोकसभा चुनाव को लेकर सपा और बसपा में गठबंधन को लेकर सहमति बन गई है। मायावती और अखिलेश के बीच दिल्ली में हुई लंबी बैठक में सीटों के बंटवारे को लेकर भी लगभग आम राय बन गई है। उनके बीच एक और बैठक होगी। इसके बाद तय हो जाएगा कि कौन सा दलए किस सीट पर चुनाव लड़ेगा।

ऐसी संभावना है कि उनके बीच अगली मुलाकात लखनऊ में ही होगी। 15 जनवरी को मायावती के जन्मदिन पर अखिलेश यादव समेत कई प्रमुख नेता उन्हें बधाई देने जाएंगे। उस दिन प्रदेश में सपा.बसपा के बीच गठबंधन की औपचारिक घोषणा की जा सकती है।

यह भी हो सकता है कि एक.दो दिन बाद इसका एलान हो। दरअसलए मायावती लोकसभा सीटों का फाइनल बंटवारा हो जाने तक गठबंधन की विधिवत घोषणा नहीं करना चाहती हैं।

खुशहाल दाम्पत्य जीवन के लिये स्त्रियों के साथ पुरुषो को भी बदलना होगा नजरिया 

इस बीच मायावती ने 20 जनवरी को पार्टी के पदाधिकारियोंए कोऑर्डिनेटर व अन्य प्रमुख नेताओं की बैठक बुलाई है। पहले यह बैठक 10 जनवरी को प्रस्तावित थी। 22 जनवरी को भाईचारा कमेटियों की बैठक प्रस्तावित है। ये बैठकें काफी अहम बताई जा रही हैं। इनमें बसपा के सभी प्रमुख नेता शामिल होंगे।

प्रदेश में महागठबंधन को लेकर सपा.बसपा से मिले झटके के बाद कांग्रेस ने प्रदेश में लोकसभा चुनाव अपने दम पर लड़ने की तैयारी शुरू कर दी है। पहले चरण कांग्रेस सबसे मजबूत सीटों को चिह्नित कर रही है। ऐसी 40.45 सीटों पर जल्द ही प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया प्रारंभ होगी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इसी महीने अमेठी दौरे के बाद कांग्रेस अपने रुख का खुलासा करेगी। तब तक सपा.बसपा के गठबंधन का एलान हो सकता है। इसी के बाद कांग्रेस अपने पत्ते खोलेगी। कांग्रेस कई छोटे दलों से गठबंधन कर सकती है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *