गैंगरेप की शिकार युवती को दरोगा ने बनाया अपनी दरिंदगी का शिकार ।

महोबा शहर कोतवाली इलाके में एक शर्मनाक मामला सामने आया है। तीन युवकों ने तमंचे के बल पर एक किशोरी के साथ दुष्कर्म किया। उससे पहले किशोरी के हाथों को सिगरेट से दागा गया। जब पीड़िता न्याय के लिए कोतवाली पहुंची तो यहां एक दरोगा ने उसे अपनी दरिंदगी का शिकार बनाया। डीआईजी झांसी ने पीड़िता को पुलिस अभिरक्षा में भेजकर मेडिकल करवाया है। वहीं पूरे मामले में कार्रवाई के लिए एसपी को निर्देश दिया

गैंगरेप की शिकार युवती को दरोगा ने बनाया अपनी दरिंदगी का शिकार ।
मुताबिकए संतोषी ओर सविता नाम की दो महिलाओं ने ब्यूटी पार्लर में नौकरी का झांसा देकर कानपुर की रहने वाली 16 बर्षीय किशोरी को महोबा बुलाया। लेकिन महिलाओं ने तीन युवकों के हवाले कर दिया। आकाश सुरेंद्र ओर रक्खू नाम के युवकों ने किशोरी के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया।किसी तरह आरोपियो के चंगुल से छूटकर पीड़िता ने मामले की लिखित शिकायत महोबा कोतवाली पुलिस को दर्ज कराई। पीड़िता का आरोप है किए उसके साथ दरोगा ने दुष्कर्म किया।
पीड़िता का आरोप है कि पुलिस की निष्क्रियता के चलते गैंगरेप के आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। दरोगा ने दबाब बनाकर मामले को खत्म करा दिया। फिलहाल मामला उजागर होने पर डीआईजी झांसी के आदेश पर पीड़िता को महिला थाने में रखा गया है। पुलिस अधिकारी पीड़िता से पूछताछ कर रहे हैं। लेकिन मामला खाकी से जुड़ा होने पर इस घटना को लेकर कोई अधिकारी बोलने के लिए तैयार नहीं है
राहुल नया सियासी दांव, महिला आरक्षण बिल पर मोदी सरकार पर दबाव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *