मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेगे कमलनाथ

मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री की शपथ लगे कमलनाथ।प्रदेश में  काग्रेस पार्टी ने बड़ी जीत हासिल की थी।तभी से  कमल नाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया  सीएम पद के दावेदार थे।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेगे कमलनाथ
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने आवास पर राज्य के पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में मुख्यमंत्री पद के दोनों दावेदारों कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया को बुलाकर मीटिंग ली। पार्टी विधायकों नेताओं और कार्यकर्ताओं से बार्ता करने के बाद राहुल गांधी ने वरिष्ठ नेता कमलनाथ के हाथों मध्यप्रदेश की कमान देने का फैसला लिया।सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार  सोमबार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते है कमलनाथ।  हलाकि एक तबका बहा युवा ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते थे। आखिरकार   राहुल  गांधी ने युवा ज्योतिरादित्य के मुकाबले  कमल नाथ को ज्यादा अनुभवी समझा और मध्यप्रदेश की कमान कमलनाथ के हाथो में सौपने की मोहर लगा दी । सीएम पद  के तौर पर कमल नाथ के नाम की घोषणा होते ही पार्टी कार्यकर्ताओं में की लहर दौड़ गई।
इंदिरा गांधी कमल नाथ को अपना तीसरा बेटा मानती थी।इस नाते राहुल गांधी ने कमलनाथ जैसे पुराने चेहरे पर भरोसा जताया है।कांग्रेस ने पार्टी प्रमुख राहुल गांधी की वरिष्ठ पार्टी नेताओं के साथ घंटों तक चली कई दौर की बातचीत के बाद बृहस्पतिवार देर रात वरिष्ठ नेता कमल नाथ के नाम की घोषणा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में की। कमलनाथ देर रात भोपाल पहुंचे। जहां हवाईअड्डे पर उनके समर्थकों ने नाचते हुये जय कमलनाथ के नारे से उनका स्वागत किया। कमल नाथ कांग्रेस की अगुवाई वाली पिछली सरकारों में केंद्रीय मंत्री रहे कमलनाथ मध्य प्रदेश में कांग्रेस द्वारा सत्तारुढ़ भाजपा के खिलाफ जीत दर्ज करने के समय से ही मुख्यमंत्री पद के शीर्ष दावेदार थे। राज्य में पिछले 15 साल से भाजपा सत्ता में थी।पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मुख्यमंत्री पद की दौड़ में थे।प्रदेश में मुख्यमंत्री पद को लेकर कांग्रेस में संशय गुरुवार रात खत्म हो गया। कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता कमलनाथ को राज्य का मुख्यमंत्री घोषित कर दिया। सूत्रों के मुताबिक कमलनाथ सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। कमलनाथ का सियासी सफर काफी लंबा रहा है। वह संसद के वरिष्ठ सदस्यों में से एक हैं और यूपीए सरकार के दौरान वह बड़े मंत्रालयों को संभाल चुके हैं। उनकी गिनती कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *