लखनऊ में भाजपा युवा मोर्चा के नेता की  हत्या के बाद ट्रामा सेंटर में हंगामा

लखनऊ में भाजपा युवा मोर्चा के नेता की  हत्या के बाद ट्रामा सेंटर में हंगामा
लखनऊ में भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश मंत्री प्रत्यूषमणि त्रिपाठी  की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। उनकी लाश बादशाहनगर रेलवे स्टेशन के पास लहूलुहान हालत में सड़क पर पडी हुई थी और पास में ही उनकी बाइक पड़ी थी।  सूचना पर पहुंची पुलिस ने प्रत्यूषमणि को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
लखनऊ में युवा नेता प्रत्यूषमणि त्रिपाठी की हत्या की खबर फैलते ही भारी संख्या में भाजयुमो कार्यकर्ता  ट्रॉमा सेंटर पहुंच गए और हंगामा शुरू कर दिया। भाजयुमो नेता की हत्या की सूचना पर डीएम कौशल राज शर्मा व एसएसपी कलानिधि नैथानी मौके पर पहुंचे तो उन्हें कार्यकर्ताओं ने घेर लिया। घरवालों का कहना है कि 25 नवम्बर को प्रत्यूषमणि पर कैसरबाग स्थित उनके आवास के पास हमला हुआ था। उन्हीं हमलावरों पर हत्या का आरोप लग रहा है।
कैसरबाग के तालाब गगनी शुक्ल मोहल्ले में रहने वाले प्रत्यूषमणि त्रिपाठी भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश मंत्री थे। एएसपी ट्रांसगोमती हरेन्द्र कुमार ने बताया कि सोमवार रात करीब 11 बजे राहगीरों ने पुलिस कंट्रोल रूम पर फोन करके सूचना दी कि बादशाहनगर रेलवे स्टेशन के बाहर बंद पड़े पम्प के पास एक युवक घायल अवस्था में सड़क पर पड़ा है।  सूचना पर पहुंची पुलिस ने पड़ताल की तो घायल युवक के पास उसकी बाइक भी पड़ी थी। राहगीरों ने इसे सड़क दुर्घटना बताया जिसके बाद पुलिस ने घायल युवक को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जांच के दौरान मृतक की शिनाख्त प्रत्यूषमणि त्रिपाठी के रूप में हुई। पुलिस ने परिवारीजनों को फोन करके घटना की जानकारी दी।
ट्रॉमा सेंटर में कार्यकर्ताओं का प्रदर्शनप्रत्यूषमणि त्रिपाठी के परिवार में पत्नी सीमा, बेटा वंश, बेटी रूद्राक्षी व दो माह की दुधमुंही बेटी है। पुलिस की सूचना पर सीमा परिजनो के साथ  ट्रॉमा सेंटर पहुंची। पति का शव सामने देख वह बेसुध हो गई। घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल था। उधर, भाजयुमो नेता की हत्या की खबर फैलते ही ट्रॉमा सेंटर में कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लगने लगा। उग्र भीड़ ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया। बवाल की सूचना पर डीएम कौशल राज शर्मा व एसएसपी कलानिधि नैथानी समेत सभी आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए। और बहा लोगो को समझा कर शांत कराया।
छेड़छाड़ के आरोप में हुई थी मारपीट परिजनों ने बताया कि 25 नवम्बर की रात 10 बजे कैसरबाग के मॉडल हाउस निवासी एक युवती के भाई व उसके साथियों ने प्रत्यूषमणि पर जानलेवा हमला किया था। इस मामले में प्रत्यूषमणि ने युवती व उसके घरवालों के खिलाफ कैसरबाग कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था। वहीं युवती ने भी प्रत्यूषमणि पर छेड़छाड़ और अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। परिजनों का आरोप है कि उसी युवती व उसके घरवालों ने मिलकर प्रत्यूषमणि की हत्या की है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए जमकर हंगामा किया। लोगों को उग्र होता देख पुलिस ने देर रात कैसरबाग के मॉडल हाउस में युवती के घर पर दबिश दी। पुलिस ने युवती के तीन रिश्तेदारों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।लखनऊ आईजी सुजीत पांडेय का बयान 5 टीमेंआरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही हैं।एसएचओ कैसरबाग को लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *