स्याना हिंसा में बेटे को खोने वाले मां बाप ने विधान सभा के सामने आत्मदाह करने दी धमकी

बुलन्दशहर  में 3 दिसंबर को हुई हिंसा में जान गवाने वाले नवयुवक सुमित के पिता ने अब चौंकाने वाला बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि आगामी 18 दिसम्बर को वह विधानसभा के सामने आत्मदाह करेंगे।

स्याना हिंसा में बेटे को खोने वाले मां बाप ने विधान सभा के सामने आत्मदाह करने दी धमकी
सुमित के पिता का आरोप है कि प्रशासन ने उन्हें झूठा वादा करके 4 दिसंबर को उनसे  उनके बेटे के शव का अंतिम संस्कार करवा दिया। जबकि उस वक्त उन्हें आर्थिक सहायता की बात भी जिले के अफसरों ने कही गई थी ।
बुलंदशहर के स्याना कोतवाली क्षेत्र की चिंगरावटी चौकी पर गोकशी की घटना के बाद जो हिंसा भड़की  उसके बाद अचानक चली गोली में नेशनल डिफेंस अकादमी यानी एनडीए की परीक्षा की  तैयारी कर रहे नवयुवक सुमित को गोली लगी थी, जिसकी इलाज के बाद मेरठ के निजी अस्पताल में मौत हो गई थी, मृतक के पिता का आरोप है कि उसने प्रशासन के वायदे के अनुसार अपने बेटे का अंतिम संस्कार तो कर दिया, लेकिन प्रशासन ने आज तक भी उस परिवार की शुध नहीं ली, सुमित के पिता अमरजीत सिंह का कहना है कि उन्हें जिले के अफसरों के द्वारा आश्वासन दिया गया था आर्थिक मदद का लेकिन जिले के अफसरों ने उसके बाद से अब 9 दिन हो चुके लेकिन उनकी सुध नहीं ली,
स्याना हिंसा में मरे गये इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की सम्प्पत्ति की साध्वी महंत यतिनानंद ने जांच की मांग।
उन्होंने कहा कि जिस तरह इस घटना में मारे गए स्याना के इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के लिए आर्थिक सहायता सरकार की तरफ से की गयी है उसी तर्ज पर उनकी भी मदद होनी चाहिए।आज मृतक सुमित के पिता ने प्रशासन पर असहयोग का आरोप लगाते हुए अल्टीमेटम दे डाला कि अगर प्रशासन ने सुध नहीं ली तो वे 18 तारीख को लखनऊ में मुख्यमन्त्री के आवास के सामने अपनी पत्नी के साथ आत्मदाह कर लेंगे।उन्होंने कहा कि अब उन्हें मुख्यमंत्री योगी से ही कुछ आस है।मृतक सुमित के पिता किसान हैं, और घर में चार बेटियां और एक बेटा है,और सुमित को वह नोएडा में किसी तरह तैयारी करा रहे थे ,सुमित एनडीए के लिए तैयारी कर रहा था परिजनों की मानें तो सुमित अपने एक दोस्त को छोड़ने के लिए सिंह चिंगरावटी गांव से चौकी तक गया था, तभी अचानक वहां हिंसक घटना हो गई जिसमें सुमित की जान चली गई सुमित के पिता अमरजीत सिंह का कहना है कि वह इस मामले में एक-दो दिन और प्रशासन का इंतजार करेंगे अगर प्रशासन ने सुध नहीं ली तो वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के सामने जाकर आत्मदाह कर लेंगे उन्होंने कहा कि उनके साथ उनकी पत्नी भी आत्मदाह करेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *