#MeToo कला प्रदर्शनी में भारत माता की पेंटिंग को लेकर विवाद

चेन्नई के लॉयला कॉलेज में आर्ट शो के दौरान बनाई गई पेंटिंग को लेकर विवाद हो गया है। दो दिवसीय कला प्रदर्शनी में कुछ चित्रों पर भारत माता और पीएम मोदी से संबंधित कैप्शन लिखे गए थे। इसके बाद पुलिस से शिकायत की गई और कॉलेज ने माफी भी मांगी।

#MeToo कला प्रदर्शनी में भारत माता की पेंटिंग को लेकर विवाद

एक पेंटिंग पर कैप्शन लिखा था– ‘भारत माता भी #MeToo की एक पीड़ित है।एक और पेंटिंग में लिखा गया था– ‘पीएम मोदी साम्राज्यवाद के अनुयायी हैं इसके अलावा, अन्य विवादित कैप्शन भी थे– “एक्टिविस्ट और लेखक गौरी लंकेश की हत्या का आरएसएस से सीधा संबंध है“, “बीजेपी का कमल एक चूहे में बदल गया है, जो राफेल डील में खा रहा है।

दो दिवसीय स्ट्रीट अवार्ड्स फेस्टिवल का आयोजन 19 और 20 जनवरी को किया गया था। इस फेस्टिवल का एक उद्देश्य एक ही छत के नीचे सबसे ज्यादा कला प्रदर्शनियों की बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड जीतना था।

हालांकि, कई लोगों को प्रदर्शनी पसंद नहीं आई और उन्होंने पुलिस से शिकायत की। पुलिस ने इसके बाद मामला दर्ज कर लिया है। एक शिकायतकर्ता उमा आनंद ने कहा कि कार्यक्रम को स्ट्रीट अवार्ड फेस्टिवल कहा जाता था लेकिन कार्यक्रम का इससे कोई संबंध नहीं था। क्या यह राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान करना था? हमारे प्रधानमंत्री के लिए? क्या इन सभी चीजों को नीचा दिखाया जाना था

भाजपा कार्यकर्ता अनरु चंद्रमौली ने कहा कि कॉलेज को केंद्र सरकार से यूजीसी के माध्यम से अनुदान मिलता है। इससे धर्मनिरपेक्ष होने की उम्मीद है। लेकिन कॉलेज ने हिंदूविरोधी, राष्ट्रविरोधी गतिविधियों की अनुमति दी। वहीं, कॉलेज ने दुख जताया है और कहा है कि इसके स्थानों का दुरुपयोग किया गया था। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव एच। राजा ने कहा है कि पीएम का अपमान किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *