बीमा के 24 लाख रुपये हासिल करने के लिए भाई ने की भाई की हत्या

बीमा की रकम हासिल करने के लिए छोटे भाई ने अपने बड़े भाई की हत्या कर दी,  प्रदीप की खून से लथपथ लाश 31 जनवरी 2018 को सड़क के किनारे मिली थी 

बीमा के 24 लाख रुपये हासिल करने के लिए भाई ने की भाई की हत्या

 

शाहजहांपुर में पुलिस ने भाई के रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना का बड़ा खुलासा किया है। यहां महज बीमे की रकम हासिल करने के लिए छोटे भाई ने अपने बड़े भाई की हत्या कर दी । हत्या आरोपी भाई बीमे में नॉमिनी था और बीमे के पैसे से अपनी गरीबी दूर करना चाहता था। फिलहाल पुलिस ने हत्यारे भाई और उसके दोस्त को जेल भेज दिया है।

पुलिस की गिरफ्त में खड़े इस शख्स पर अपने सगे भाई की हत्या करने का आरोप है । इस शख्स ने महज बीमे का रुपए हासिल करने के लिए अपने भाई को मौत के घाट उतार दिया।

घटना मिर्जापुर  थाना के तारा गांव के रहने वाले प्रदीप की खून से लथपथ लाश 31 जनवरी 2018 को सड़क के किनारे मिली थी । लाश मिलने पर मृतक के भाई ने परिवार और गांव बालो के साथ पुलिस को गुमराह करने के लिए लाश को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया था । उस वक्त परिजनों ने सड़क दुर्घटना में मौत होने की बात कही थी । लेकिन पुलिस की तफ्तीश में जो खुलासा हुआ उसने पुलिस को भी सकते में डाल दिया । पुलिस की मानें तो मृतक प्रदीप ने 24 लाख रुपए का अपना बीमा करवाया था और अपने छोटे भाई कुलदीप को नॉमिनी बनाया था ।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है मूर्तियों पर खर्च हुआ जनता का पैसा मायावती वापस लौटाएं

बीमा कराने के कुछ महीने बाद ही छोटे भाई की नियत बदल गई । बीमे की रकम हासिल करने के लिए छोटे भाई कुलदीप ने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर पहले अपने भाई को गोली मारी और फिर उसकी गला रेत कर हत्या कर दी । लाश को सड़क के किनारे फेंक दिया गया । आरोपी भाई पुलिस को दुर्घटना में मौत होने की बात करता रहा जबकि उसकी गोली मारकर हत्या की गई थी। जिससे पुलिस को शक हो गया । पुलिस ने जांच के बाद पूरे मामले का खुलासा कर दिया।

आरोपी भाई कुलदीप ने बताया कि  उसका परिवार बेहद गरीब था । और दोनों ही अविवाहित थे । बीमे की रकम से उसकी गरीबी दूर हो जाती। लेकिन आज वह अपने भाई की हत्या पर दुख जाहिर कर रहा है। कहा जाता है कि एक भाई का दूसरा भाई उसकी ताकत होता है । लेकिन यहां इस कलयुगी भाई ने इस रिश्ते को शर्मसार कर दिया । फिलहाल अब इस कलयुग की भाई को ना ही बीमे की रकम मिलेगी और ना ही कानून की माफी । अब इसकी पूरी जिंदगी अपने भाई की हत्या के आरोप में जेल में ही कटेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *