जहरीली शराब पीने से हुई मौतों पर 19 पुलिस कर्मियो पर गिरी गाज।

लखनऊ। यूपी में अवैध शराब का कारोबार जारी है। यूपी में एक बार फिर जहरीली शराब से हाहाकार मचा हुआ है। जहरीली शराब पीने से कुशीनगर और सहारनपुर में अब तक 26 लोगों की मौत हो गई है,

जहरीली शराब पीने से हुई मौतों पर 19 पुलिस कर्मियो पर गिरी गाज।

जबकि अस्पताल में दर्जनों लोग जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे हैं। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने आज कहा कि 365 दिनों तक हम अभियान नहीं चला सकते। उन्होंने कहा कि मिलावटी शराब के खिलाफ हमारा अभियान जारी है। हम मीडिया को बताकर अभियान नहीं चला सकते।

डीजीपी ने कहा कि सहारनपुर के मामले में इंस्पेक्टर, चौकी इंचार्ज और बीट सिपाही को निलंबित कर दिया गया है, वर्तमान में डीजीपी आईजी ने गोरखपुर और सहारनपुर से रिपोर्ट तलब की है। बता दें कि कुशीनगर के तरयासुजान थाना क्षेत्र में जहरीली शराब पीने वाले पांच और लोगों की गुरुवार को मौत हो गई।

बीमा के 24 लाख रुपये हासिल करने के लिए भाई ने की भाई की हत्या

बुधवार को भी पांच लोग मारे गए थे। प्रशासन ने इस मामले में शबदा और आबकारी निरीक्षक सहित नौ लोगों को निलंबित कर दिया है। कच्ची शराब बेचने वालों के खिलाफ मामला दर्ज कर एक कारोबारी को गिरफ्तार किया गया है। शुक्रवार को सहारनपुर के विभिन्न गांवों में जहरीली शराब पीने से 16 लोगों की मौत हो गई।

इस मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है, पुलिस अब जांच के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दे रही है। यह महत्वपूर्ण है कि आबकारी विभाग की ज़िम्मेदारी है कि वह ज़हरीली शराब की बिक्री को रोके। हालांकि, नवीनतम जानकारी के अनुसार, सहारनपुर में दस पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया। थाना प्रभारी सहित दस पुलिस कर्मियों को निलंबित करने के अलावा आबकारी विभाग पर क्या कार्रवाई की गई, इसकी कोई जानकारी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *